World AIDS Day 2023 : World AIDS Day का इतिहास और इस बीमारी से बचने के ये उपाय आपको जरूर पता होने चाहिए

World AIDS Day 2023 : दुनिया भर में विश्‍व एड्स दिवस हर साल 1 दिसंबर को मनाया जाता है। ये दिन इसलिए मनाया जातास है ताकि लोगो को इस जानलेवा बीमारी और इस बीमारी से बचने को लेकर जागरूकता फैलाई जा सके। यह दिन दुनिया भर में लोगों के लिए एकजुट होने और एचआईवी से पीड़ित लोगों के लिए समर्थन दिखाने और इस बीमारी से मरने वालो को याद करने के मनाया जाता है।

ये भी पढ़े-
World population hits 8 billion, India largest contributor
10 MOTIVATIONAL POETRY IN HINDI |जिन्‍दगी में अगर निराश है तो 10 मोटीवेशनल शायरी जरूर पढ़े

World AIDS Day 2023 : इस दिन से हुई World AIDS Day की शुरूआत

World AIDS Day की शुरूआत 1988 को हुई थी। इसी साल विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन यानि डब्‍ल्‍यू एच ओ ने 1 दिसंबर 1088 को आफिशियली World AIDS Day डिक्‍लेयर कर दिया था। वर्ल्‍ड एड्स डे मनाने के पीछे मकसद ये था कि लोगो को इसस भयंकर जानलेवा बीमारी के प्रति जागरूक किया जा सके। 1988 से पहले बहुत कम लोगो को इस बीमारी के बारे में पता था।

जब काफी सख्‍या मे लोग इस बीमारी की वजह से मरने लगे। तो डब्‍ल्‍यू एच ओ को वर्ल्‍ड लेवल पर एक ऐसा डे डिक्‍लेयर करने की जरूरत पड़ गई जिसके तहत दुनिया भर के लोगो को इस बीमारी के प्रति जागरूकता किया जा सके। तब से लेकर आज तक 31 दिसंबर का दिन वर्ल्‍ड एड्स डे के रूप में मनाया जाता है। इस दिन की वजह से दुनिया भर के इस बीमारी को लकर एक जागरूकता भी पैदा हो गई है।

आज भले ही एड्स को लेकर लोगो के प्रति जागरूकता पैदा हो गई लेकिन दुनिया भर में कई इलाके ऐसे भी है। जहा लोगो को इस बीमारी के बारे में नही पता। ऐसे में भी डब्‍ल्‍यू एच ओ के सामने काफी चुनौतिया है कि वो इस बीमारी को लेकर लोगो में ऐजुकेशन को प्रोमोट करे।

भारत जैसे देश में जहा सेक्‍स को लेकर खुल कर चर्चा नही हो पाता है। ऐसे में इस देश में विश्व एड्स दिवस का महत्‍व काफी ज्‍यादा बढ़ जाता है। इस दिन एड्स को लेकर भारत में कई तरह के कैम्‍पेन चलाये जाते है। टीवी पर ऐड चलाये जाते है जिनके माध्‍यम से लोगो को उन्‍ही की भाषा में ये बताने की कोशिश की जाती है कि वो खुद को इस भयकंंर बीमारी से कैसे बचा सकते है।

World AIDS Day 2023 : एंड्स से रोकथाम और बचने के उपाय

  1. जब भी आप अपने पार्टनर के साथ सैक्‍स सम्‍बन्‍ध बनाये तो हमेशा कंडोम का उपयोग करे। अगर आप ऐसा करते है तो आप भी सेफ रहते है और आपका पार्टनर भी।
  2. आप एचआईवी पाजिटिव है या निगेटिव, ये जानने के लिए नियमित तौर पर अपना एचआईवी टेस्‍ट करवाते रहे। खासकर तब जब आप कई लोगो के साथ सेक्‍स सम्‍बन्‍ध मनाते हो।
  3. कई लोगो के साथ सेक्‍स सम्‍बन्‍ध ना बनाये। ऐसा करने से आपको एड्स होने का खतरा काफी ज्‍यादा बढ़ जाता है।
  4. अपने इजेक्‍शन को किसी के भी साथ शेयर करने से बचे ना ही खुद किसी ऐसे इजेक्‍शन का उपयोग करे जिसका पहले भी उपयोग किया जा चुका हो।
  5. यदि आपको एचआईवी होने का खतरा अधिक है तो प्री-एक्सपोज़र प्रोफिलैक्सिस (पीआरईपी) पर विचार करें। PrEP एक दैनिक दवा है जो एचआईवी संचरण के जोखिम को काफी कम कर सकती है।
  6. यदि आप किसी वजह से एचआईवी पॉजिटिव हो गये तो तुरन्‍त एंटीरेट्रोवाइरल थेरेपी (एआरटी) लेना शुरू कर दे। ऐसा करने से इस वाइरस का असर थोडा कम हो जाता है।
  7. एचआईवी/एड्स और इसके खतरो को लेकर हमेशा अपडेट है। इससे आप काफी हद तक खुद को सेव कर सकते है।
  8. यदि आप प्रेग्नेंट है और आपको एड्स हो गया है। तो इस बात का पूरा ध्‍यान रखे कि आपके बच्‍चे में ये वाइरसस ना पहुंच पाये। अपने बच्‍चे को इस वाइरस से बचाने के लिए आप किसी डाक्‍टर की सलाह ले सकती है हैं ।
  9. अपने पार्टनर के साथ एचआईवी और सेक्‍स को लेकर खुल कर बात करे। उसकी सेक्‍स लाइफ कैसी रही है। इसको लेकर खुल कर चर्चा करे ।
  10. खुद भी और अपने आस पास के लोगो को भी प्रेरित करे कि वो एड्स को लेकर हमेशा अपडेट रहे। और लोगो क बीच जागरूकता फैलाते रहे।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply